अन्ना मेडियाल मणि | जीवनी

अन्ना मणि (3 अगस्त 1918 – 16 अगस्त 2001) एक भारतीय भौतिक मौसम वैज्ञानिक थी। वह भारत के मौसम विभाग के उप-निदेशक रही थी। मणि को उनके भारतीय मौसम विज्ञान में दिए गए योगदान के लिए जाना जाता है। अन्ना ने स्वदेशी उपकरणों के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया था।


Anna Mani Complete Biography In Hindi

Anna Mani
नामअन्ना मेडियाल मणी
जन्म23 अगस्त 1918 पीरमेडू, केरल
मृत्यु16 अगस्त 2001 (82) तिरुवनंतपुरम, केरल
नागरिकभारतीय
विवाहअविवाहित
प्रसिद्धिवैज्ञानिक
क्षेत्रMeteorology, Physics
संस्थानIndian Meteorological Department, Pune

अन्ना मणि जीवनी (Anna Mani Biography in Hindi)

अन्ना मेडियाल मणि का जन्म 23 अगस्त 1918 में केरल के पीरमेडू में हुआ था। अन्ना मेडियाल मणि को किताब पढ़ने का शोक था। 8 साल की उम्र में उहोने इनसाइक्लोपीडिया ऑफ ब्रिटैनिका (encyclopedia of Britannica) खरीदी। इस पुस्तक ने मणि के ऊपर बहुत गहरा प्रभाव डाला।

अन्ना गांधी जी से भी बहुत प्रभावित थी। अन्ना मणि का सम्पूर्ण जीवन सादगी भरा था था, उन्होने सारी जिंदगी खादी ही पहनी।

शिक्षा एवं प्रारम्भिक प्रारम्भिक जीवन  (Early life and Education)

अन्ना मेडियाल मणि भातिक विज्ञान विषय में बहुत तेज़ थी, इसलिए उन्होने इसी क्षेत्र में आगे बढ्ने का निर्णय किया। मद्रास के प्रेसीडेंसी कॉलेज से फिजिक्स में होनर्स की डिग्री प्राप्त की। 1940 में स्कोलरशिप मिली जिससे वह बैंगलोर के इंडियन इन्सीटूटिए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइन्स ( Indian Institute of Science) में सी वी रमन के मार्गदर्शन में शोध करने लगी। अन्ना मेडियाल मणि ने हीरों की चमक में 5 शोध पत्र लिखे। सन 1945 मे मद्रास यू​निवर्सिटी (Madras University) से डॉ की डिग्री से सम्मानित किया गया।


भारतीय मौसम विज्ञान में योगदान  (Career)

अन्ना मणि की सन 1948 में पुणे स्थित भारतीय मौसम विभाग में नियुक्ति हुई। सन 1948 से पूर्व मौसम विभाग में प्रयुक्त होने वाले उपकरण विदेशो से आयात होते थे, लेकिन मौसम विभाग के प्रमुख श्री एस पी वेंकटेश्वरन ( S P Venkateshvaran ) ने मौसम विभाग में प्रयोग होने वाले उपकरणो को भारत में निर्माण करने का निश्चय किया। इसके लिए उन्होने वर्कशाप की स्थापना की, जिससे अन्ना मेडियाल मणि को भी अपनी प्रतिभा साबित करने का मौका मिल गया। अन्ना मेडियाल मणि ने 100 से अधिक मौसम संबधि उपकरणो का मानकीकरण किया ओर उत्पादन शुरू कर दिया।

  1. सन 1957 में इंटरनैशनल ज्योफिजीकल इयर में सौर ऊर्जा मापने का जाल बिछाया।
  2. सन 1960 में ओज़ोन मापने का उपकरण ओजोनसोण्डे विकसित किया।
  3. सन 1963 में विक्रम साराभाई के आग्रह पर थुम्बा रॉकेट लोंचिंग पैड के पास मौसम की जानकारी एकत्रित करने के लिए एक प्रयोगशाला स्थापित की।

अन्ना मणि सन 1976 मे डिप्टी डायरेक्टर जनरल के पद से सेवा-मुक्त हुईं।


प्रकाशन (Publications)

  1. हेंडबूक ऑफ सोलर रेडिएशन डेटा फॉर इंडिया 1980
  2. सोलर रेडिएशन ओवर इंडिया 1981 प्रकाशित की।
  3. विंड एनर्जि रिसोर्स सर्वे इन इंडिया 1992 

अंतिम समय (Death)

अन्ना मेडियाल मणि को प्रकृति से बहुत प्रेम था। अन्ना मनी ने शादी नही की और अपना सम्पूर्ण जीवन भारतीय मौसम विज्ञान कार्यरम को समर्पित कर दिया। अन्ना मणि का देहांत 16 अगस्त 2001 में तिरुवनंतपुरम में हुआ।


Tags:- Anna Mani Biography in Hindi, Indian physicist and meteorolog, mausam vaigyanik, A Pioneer In The Field Of Scientific Research..

Last Updated on 24/02/2021